CBSE News: Tenth-Twelfth Exams In Two Shifts

CBSE एक शिफ्ट में कराएगा 10th-12th के एग्जाम, 15 दिन कम वक्त लगेगा

नई दिल्ली. सेंट्ल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) अब दसवीं-बारहवीं के एग्जाम एक साथ एक दिन में दो शिफ्टों में कराएगा। इससे न सिर्फ परीक्षा का शेड्यूल घटेगा, बल्कि डेढ़ महीने तक चलने वाले एग्जाम एक महीने में पूरे करा लिए जाएंगे। बोर्ड एग्जाम में सुधार के लिए बनाई गईं कमेटियों की ओर से यह सुझाव बोर्ड चेयरमैन आरके चतुर्वेदी को दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक सीबीएसई दो सेट में एग्जाम लेती थी, लेकिन अब बोर्ड एक सेट में एग्जाम कराएगा। इससे एक सेट की ही मार्किंग स्कीम बनेगी और आंसरशीट चेक करने में भी कम वक्त लगेगा। इस पर भी विचार कर रहा बोर्ड…
– चतुर्वेदी का कहना है कि एग्जाम लंबे वक्त तक चलना बोर्ड के लिए चुनौती बनता जा रहा है। बारहवीं के 45 सब्जेक्ट के एग्जाम होते हैं, जबकि मेन सब्जेट 5 हाेते हैं और एक सब्जेक्ट ऑप्शनल होता है। बोर्ड इस पर विचार कर रहा है कि इन ऑप्शनल सब्जेक्ट्स से छुटकारा मिल सके।
– उन्होंने बताया कि कुछ लैंग्वेज तो ऐसी हैं, जिनमें देशभर से 1-2 स्टूडेंट्स ही एग्जाम में बैठते हैं।
– दरअसल, अभी एक दिन दसवीं का एग्जाम रखा जाता है, दूसरे दिन बारहवीं का।
फरवरी में होंगे एग्जाम
– क्योंकि बोर्ड एग्जाम अब देशभर में फरवरी में कराए जाएंगे, इस वक्त ज्यादा गर्मी नहीं होती। स्टूडेंट्स के लिए मौसम भी ठीक रहेगा। ऐसे में बोर्ड को सुझाव मिला है कि पुराने पैटर्न पर लौटते हुए एग्जाम दो शिफ्टों में कराया जाए।
– पहली शिफ्ट में बारहवीं और दूसरी शिफ्ट में दसवीं के एग्जाम लिए जाएंगे। इससे कम वक्त में एग्जाम पूरे करा लिए जाएंगे। आंसर शीट चेक करने के लिए भी बोर्ड को काबिल टीचर्स मिलेंगे।
18 हजार से ज्यादा स्कूल एफिलिएटेड
– इन मुद्दों पर सुधार के लिए कमेटियां अच्छे से स्टडी कर रही हैं। सातवें वेतन आयोग के तहत गवर्नमेंट इम्प्लाॅई का पेमेंट बढ़ाया गया है। ऐसे में आंसर शीट चेक करने वाले टीचर्स का पेमेंट भी कम से कम 15% बढ़ाने पर विचार चल रहा है।
– सीबीएसई से फिलहाल 18 हजार से ज्यादा स्कूल एफिलिएटेड हैं। हर साल करीब 26 लाख स्टूडेंट्स दसवीं और बारहवीं का एग्जाम देते हैं, जिनकी करीब 1.5 करोड़ आंसर शीट चेक की जाती हैं।

One thought on “CBSE News: Tenth-Twelfth Exams In Two Shifts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *